Most popular content on Instagram reel Love Shayri line

Most popular content on instagram

Most popular content on instagram
Most popular content on instagram

1तबाह होकर भी तबाही नहीं दिखती,,
यह इश्क है जनाब!! इसकी दवा नहीं बिकती ।

2इश्क-ना हुआ जैसे कोहरा हो गया,,
एक उनके सिवा कुछ हमे दिखता ही नहीं ।

3कितनी अजीब बात हैं ना!!
इंसान छोड़ देते हैं लोग बात पकड़ कर।

4इश्क अब तुम किसी से भी करना,, मगर
किसी पर ये बेवफाई वाला,, सितम ना करना ।

5जब प्यार और नफरत दोनों एक ही इंसान से हो जाए,,
तो जिन्दगी जीना मुश्किल हो जाता है ।

6EXperience कहता है की कुछ लोग जिन्दगी में ऐसे भी आते हैं,,
जो कुछ पल के हमदर्द बनकर, जिन्दगी भर के लिए दर्द दे जाते हैं ।

7कुछ घंटों की मुलाकात सालों बया कर गई,,
सवाल करते हैं जवाब तो उन्हें चाहिए।

8खुश तो वो लोग रहते है जो प्यार जिस्म से करते हैं,,
क्योंकि देखा है उन्होंने तड़फते हुए रूह से प्यार करने वालो को।

9एक बार जब किसी इंसान पर से भरोसा उठ जाए,,
तो, फर्क नहीं पड़ता फिर वो जहर खाए या कसम।

10प्यार तो हम दोनों ने किया था,,
उसने बहुतों से किया था,, मैने बहुत किया था।

11एक बार इश्क़ का उधार लिया था, उनसे
अब तक उनकी ब्याज चुका रहा हूँ ।

12रात कट नहीं रही, समझ नहीं आता,,
की तन्हा रात है या हम ।

13जुर्म का पता नहीं,,
बस सजा दिये जा रही है ये जिंदगी ।

14तुम मुझे हसी हसी में खो तो दोगे,,
पर याद रखना फिर आंसुओ में ढूंढोगे ।

15मौत सिर्फ नाम से बदनाम है,,
वरना तकलीफ ज़िन्दगी ही ज्यादा देती है

16न बदलते तुम अगर मौसम की तरह,,
तो हम बर्बाद न होते फसलों की तरह।

17हम बुरे इतने है की,,
गलती ना करने पर भी हमनें कान पकड़े है ।

18मेरी ज़िन्दगी तेरे साथ शुरू तो नहीं हुई,,
पर ख्वाहिश है कि तेरे साथ खत्म हो ।

Most popular content instagram

19पहले खुशी, फिर जिद, फिर आदत बन जाता है,,
जब इबादत बन जाता है प्यार और निखर जाता है।

20वो जो चेहरे शामिल थे जनाजे में मेरे,,
ज़िन्दगी भर उन्हें ही ढूंढा करते थे हम ।

21शख्सियत अपनी यूं आम ना होती,,
बातें तेरी मेरी जो सारे आम ना होती।
कर सकते थे इश्क हम भी खुलकर जमाने में,,
जो बंदिशे है तुझपर तमाम ना होती।।

होती हर चीज हूबहू पहले कि तरह,,
बस मेरी धड़कने तेरी यूं गुलाम ना होती।
ना किस्से होते हिज्र अक्सर रातों के,,
रात आने से पहले कमबख्त ये हसीं शाम ना होती।।

अच्छा सा जख्म कोई हम भी ढूंढ लेते
मेरे दर्द की कहानी जो तेरे नाम ना होती।
आवारगी हमारी नतीजा है मुहब्बत का,,
वरना हाथो में मेरे भी ये जाम ना होता।।

22मेरा ही लिखा हुआ, मेरे सामने पढ़ रहे होंगे,,
बाद जाने के, मेरे लिए पढ़ रहे होंगे।
जिंदा था मै जब तलक, एक लफ्ज न पढ़ा,,
फ़िर मेरी तस्वीरों संग, मेरा लिखा पढ़ रहे होंगे।।

23तुम मुहब्बत को खेल कहते हो,,
और हमने बर्बाद कर ली जिन्दगी ।

24कभी तेरा चेहरा, कभी तेरी तस्वीर देखी है,,
पढ़ने वालों ने कभी मेरी तहरीर देखी है।
लिख रहा हूं तुझको, और जिक्र तेरा ही
जिस दिन से हाथो में तेरे, मेरी तकदीर देखी है।।

25क्यूँ बसी है मेरे वजूद में तू इस कदर,
लोग मिलते हैं मुझसे, मगर हाल तेरा पूछते हैं ।

26वो हमे दिल के टूटने पर खाक होने का तजुर्बा सीखा रहे है,,
उन्हें नहीं मालूम हम माचिस है, अपनी लकड़ियां साथ लेके जलते है ।

27हम लफ्जों से चोट करते हैं मगर,,
तुम्हारी खामोशियां भी कम नहीं! चोट वो भी करती हैं ।

28जब खामोशी कागज पर दिखने लगे समझ लेना जिंदगी ने अकेला कर दिया,,
विश्वास और उम्मीद टूटती है तो इन्सान खुद मौन हो जाता है।

Most popular content instagram

29वो लम्हों को बदलने में भरोसा रखती थी,,
मगर!!
उसे मालूम कहा था कि दौर भी इसी जिन्दगी में बदलेगा।

30मुहब्बत में कितने अफसाने बन जाते हैं,,
शमा जलाती है जिसको वो परवाने बन जाते हैं।

हासिल करना इश्क की मंजिल नहीं होती,,
मजा तब आता है,,,
जब किसी को खोकर लोग उसी के दीवाने बन जाते हैं।।

31कैसे सोएंगी आख़िर वो आंखें,,
जिनमे हर पल कोई जागता है।

32किसी दिन मैं भी महफिल की जान बनूंगा,,
किसी दिन मैं भी मेरी मंजिल का मेहमान बनूंगा ।

33एक शाम तो वक़्त निकाल मुलाकात का,,
चाय के साथ तुझे देखने की तलब लगी है ।

34नीलाम हो जाती है रूह तक इश्क के बाजार में,,
इतना आसान नहीं होता किसी को अपना बना लेना ।

35तुम यूं ही जुदाई के आंसुओ से परेशान हो,,
यकीन मानो तन्हाई में मुस्कुराना और भी मुश्किल है।

36यूं तो बहुत कुछ बदल चुका है, मगर,,
मुझे तो सब पहले जैसा ही नज़र आता है।
यह हिचकियां मुझे बताती हैं,,
की तू उसे आज भी उतना ही याद आता है।।

ये बादल ये बारिश ये हवाएं शायद खबर कर देते हैं उसे,,
जब भी कभी तू उसके शहर को जाता है।
मुलाकातों के सिलसिले तो देखिए साहब,,
ना चाहते हुए भी वो सामने आ ही जाता है।।

जैसे जानता हो कि मै आने वाला हूं,,
इस बात का पता उसे पहले ही लग जाता है।
यूं तो वाकिफ है वो मेरे हर एक किस्से से,,
मगर नए नए तरीकों से मुझे आजमाता है।।

कभी आजमाइश थी उसकी, की मैं उसके लिए भी कुछ लिखूँ,,
कोई जाकर बताए उसे की, मेरे हर अल्फाज में बस उसी का नाम आता है।
बेशक लोग कहते होंगे उसे खूबसूरत, दिलकश, और हसीन,,
मगर हमसे तो बस आफरीन ही कहा जाता है ।

Most popular content instagram

37लोग कहते है समझो तो खामोशिया भी बोलती हैं,,
मै एक अरसे से खामोश हूँ और वो बरसों से बेखबर ।

38किस्मत ने जैसा चाहा वैसे ढल गए हम,,
बहुत संभल के चले फिर भी फिसल गए हम।
उसी ने विश्वास तोड़ा और उसी ने दिल,,
और उसी को लगा की बदल गए हम।।

39मुहब्बत, जुदाई, दर्द, मरहम ये सब एक ही नाम हैं,, और वो हो तुम ।

40कुछ तो गज़ब की बात होगी मुझमें,,
जो मेरी खामोशी मेरे साथ ही रहती है।

41इतनी हिफाजत से रखा है तुझे इस दिल में संभाल कर,,
की!! धड़कने भी तुझे जान कर भी जान नहीं पाती ।

42आग की तपिश वो ही जानते हैं जिनके घर खाक हुए,,
वरना जमाने वाले तो सब हाथ ही सेकते हैं ।

43बाहर रौनक लगाए बैठे हैं
और अंदर से शमशान हैं हम।

44रोककर बैठे है ज़िन्दगी को अपनी
कि तुम आओ तो जीना शुरू करें।

45बड़ा मुश्किल होता है जज्बातों को पन्नों पर उतारना,,
उसके दिए हर दर्द को महसूस करना पड़ता है लिखने से पहले।

46वास्तु मस्तिष्क का बिगड़ा होता है
दुरुस्त हम घर को करते हैं …..

47मेरा हारना लाज़िमी था,,
कायदे खेल के बीच में जो बदले थे।

48ढांक लेती है वो खुद को खुद की फ़टी चादर मे,,
सुना है ज़माने की नज़र सगी नही हुआ करती

49सुनो !
किसी दिन भूल आना बटुआ,,
और मिल जाना तिराहे पर।
मेरी पिछली सीट खाली है,,
चल पड़ेंगे इस भीगते मौसम में।।

किसी छप्पर वाली दुकान पर,,
कुल्हड़ वाली चाय।
सुना है मिट्टी और बारिश,,
गिले शिक़वे मिटा देती हैं।।

50मिटा ही देते हैं शख्सियत का नामोनिशान,
उम्दा होने का वहम , मशहूर होने का गुमान।

Here you find more Quote stuff on this page Here you find more Quote stuff on this page which you love to Read you love to Read

Something Wrong Please Contact to Davsy Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.