Heart Broken poetry, love poetry hindi Collection

-Heart Broken poetry-

Heart Broken poetry-

मुझसे मेरी न पूछो
मुझमें अब मैं नहीं…..
जो हंसाया करता था, सबको
वो इंसान खो गया है, कहीं….

एक सफर शुरू किया था हमने,,
इस जालिम जमाने में….
गैरों की तो बात ही छोडो,,,,
अपनो ने भी कोई कमी न छोड़ी, दिल दुखाने में…..

मेरा हर ख्वाब कुछ ऐसे टूटा है,,,
मेरा है साथी कुछ ऐसे छूटा है….
कैसे कहूँ में अपने दिले के हालात को,,,,
जो सबकी सुना करता है,
हमें तो उस अपने ने लूटा है……

तेरे ख्यालों से धड़कन को छुपा के देखा है,
दिल और नजर को बहूत रूला के देखा है,
तेरी कसम तु नही तो कुछ नहीं,
क्योंकी मैंने कुछ पल तुझे भूला के देखा है !!

सरी राह चलते-चलते रुकना है, वो,,,,,
मेरी आंखों में जो, जागता है हर पल…
एक ऐसा सपना है वो,,,,
कैसे कह दूं गैर है,,,
मेरे इस दिल से पूछो कोन है?
वो भी कहेगा कोई अपना है वो,,,,,,,

तेरे हर दर्द को खुद पर सह लूँ,,,,
कुछ पल और तेरे गम मैं रह लूँ….
बिखर जाना है तेरी राहों में फूल बनकर…
बस एक बार तुझसे मिल कर ये कह लूँ

मेरी दुनियां बदल के रख दी
तुम्हारी मुहोब्बत ने ये सौगात हमको दी,,,
मेरी मुस्कान, आँसुओ में बदल के रख दी,,,,,
मेरे ख्वाबों की दुनियां बदल के रख दी…..

आज भी यादों में रहता है, तू,,,,,
आज भी साँसों में बहता है, तू….
यूँ ही नहीं हम तन्हा जिये जा रहे हैं,,
में वापिस आऊंगा लौट कर ,
हर रोज मेरे कानों में कहता है तू….

जिंदगी की दौड़ में
लगे रहे होड़ में,,,
खुशियां जाती रहीं
दिक्कतें आती रहीं…
सब कुछ गवां दिया
जो में हूँ नही,,,
वो साबित करने की होड़ में…..
खुद को तिनकों में बिखेर दिया,,,,
जिंदगी की दौड़ में…..

Heart Broken poetry-

Heart Broken poetry-

आंसू छुपा लिए थे
अपनी बदनसीबी पर खुद ही गुनगुना लिए थे,
मैंने देखे थे जो, ख्वाब हमारी खातिर
वो खुद ही मिटा लिए थे….
कोई इंतहा नहीं थी,दिल के दर्द की,,,,
देख कर तुमको,हमनें उस दिन
अपने आँसू छुपा लिए थे…..

फैसला हो नहीं पाया
तूने ही तो मेरे ख्वाबों को सजाया,
तूने ही तो मुझे नींद से जगाया..
दिल-ए-मन्जर तेरा, तूने ही तो मुझे बताया,,,
फिर क्यूँ न हो सका तू , मेरा हमराह
ये फैसला आज तक हो नही पाया….

बात उलझ के रह गई
दिल की बात अधरों पे आकर रह गई,
मेरे प्रेम की लौ सुलग के रह गई…
तू मुझे मिलेगी, या नही इस जीवन में,,,,
ये बात इसी में उलझ के रह गई….

दिल के एक कोने में
दिल के एक कोने में बात दबी है,,,
जैसे, राख के ढेर मैं आग दबी है…
क्या, तुम सच में मेरे थे,,,,
या सब धोखा था, मेरी आँखों का…
तेरे अधूरे वादों में, मेरी औकात दबी है,,,
आज भी दिल के एक कोने में ये बात दबी है…
कुछ जज्बात थे रोशन से मेरे,,,
रहना चाहते थे, जो संग तेरे…
मन के रोशन बाग में कर के अंधेरे
तूने भी बदल लिए अपने चेहरे,,,
तुम नहीं हो नजदीक मेरे, गैरों ने बात कही है,,
नाराजगी तुझसे नहीं खुद से है, मेरी…
क्युकी मेरे मन आज भी तेरी छबि है,,
आज भी दिल के एक कोने में ये बात दबी है…

मेरी राह सबसे जुदा है,
शायद इसीलिये दुनियां मुझसे खफा है..
कभी-कभी दोस्त भी
कर लेते हैं मेरी मेरी बुराइयां,,,
इस दुनियां के लोगों से मैंने ये सुना है…

कुछ पल शब्द क्या हमारे छूट गये,,
कुछ कदरदान हमारे रूठ गये…
सुना रहे थे अपने अहसासों की आवाज,
अहसास भी हमारे टूट गये…

Heart Broken poetry-

किस रिश्ते में बाँधूं तुमको!!!
बिना उनके कोई अल्फाज बन नहीं पाता है
क्या हाल है, मेरे दिल का
ये किसी को समझाया नहीं जाता है
तुम क्या अहमियत रखते हो, मेरे लिए
किस रिश्ते में बांधू तुमको
ये मेरी समझ में नहीं आता है

किसी कोने में रख छोडा है,
तुम्हारे लिए दिल का एक टुकडा कहीं,
देखा नहीं तुम्हारे जैसा चांद सा मुखडा कहीं…

हर पल कायम करता गया अपनी वफाएं,,
उसनें मुझे ही दगाबाज साबित कर दिया।
नजरंदाज करनी चाही बेवकूफियां उसकी
उस बेवकूफ ने मुझे ही नज़रंदाज़ कर दिया।।

हल्के में मत लेना, तुम सांवले रंग को…
दूध से भी कहीं ज्यादा , होते हैं ,
शौकीन लोग चाय के

सब की दुआ करते-करते सबक बन गयी जिंदगी
सबकी हो कर भी एक पल में तन्हा हो गयी मेरी बन्दगी

अब तो फोन भी पूछने लग गया है,,,
कहां है वो, तेरा कदरदान
जो घण्टों तुझसे बातें किया करता था
तरस रहा हूँ, उसकी वो मीठी आवाज सुनने को

दिल को चाहत थी खुशी की
पर गम को मेरी ही तलाश थी
सहना तो मेरी किस्मत में था ही
मेरे हाथों की लकीरों में जाने क्या ऐसी बात थी !!

जी भर के तुम्हें देखूँ, अगर गवारा हो …!
बेताब मेरी नजरें हों, और चेहरा तुम्हारा हो …!!

मिले वफा मोहब्बत में, अब वो दौर नहीं…!
अब इश्क महज खेल है, कुछ और नहीं…!!

तरसेगा दिल तुम्हारा,
जब हमसे मुलाकात को…!
ख्वाबों मे होंगे तुम्हारे ,
हम उसी रात को….!!

हम इस कदर , तुम पर मर मिटेंगे
तुम जहाँ देखोगे , तुम्हे बस हम #दिखेंगे

क्यों न फिर, पुरानी राहों में उनसे मिलने का इरादा कर लूँ..!
जख्म ये बहुत पुराना है, क्यूँ फिर से इसे तरो ताजा कर लूँ….!!

Heart Broken poetry-

समझने को अब कुछ बचा नहीं मेरे पास,,!
तिनके भर की जिंदगी नें सबकों की बरसात कर दी,,!!

आंसू आयें, तो खुद पोंछ लेना ए दोस्त,,!
अगर गैर पोंछने आये तो, सौदा कर लेंगे,,!!

खोजता रहता हूँ, खुद को में
न जाने कहां गुमशुदा हो गया हूँ
अनजान लोगों के इस हुजूम में
कहीं अकेला रह गया हूँ

सागर की लहरों में झलकती है तस्वीर उनकी‎
और
हम उनसे मिलने की चाहत में डूब जाते हैं..!!!😭😭

हंसाता था मुझको, कभी रुला भी देता था ,,!
खैर वो कभी कभी मुझे भुला भी देता था ,,!!
बेवफा तो था मगर अच्छा लगता था दिल को,,!
कभी बातें मोहब्बत की सुना भी देता था,,!!
थाम लेता था हाथ मेरा कभी यूं ही,,!
खुद अपना हाथ मेरे हाथ से छुडा भी लेता था,,!!
अजब धूप_छांव सा मिजाज था उसका,,!
मुहब्बत भी करता था एक पल ,
अगले ही पल नजरों से गिरा भी देता था….!!

मन बावरा हुआ जाता है , तेरे इंतजार में,,!
जाने क्या नशा कर दिया, इस निगोडे प्यार ने,,!!

You’ll never see me again…
I’ll never trust anyone again…
You’ll never heard my name again….

कागज का दर्द
कागज में कैद हैं, प्रेम के कुछ किस्से
“कुछ मेरे थे,कुछ थे उनके”
खुशियां सारी वो ले गये,,!
दर्द आ गये मेरे हिस्से,,!!

Here you find more Quote stuff on this page which you love to Read

Something Wrong Please Contact to Davsy Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.