Beautiful random poetries and famous thoughts ever

Beautiful random poetries

Beautiful random poetries

कौन कौन आता है तेरे गम को बांटने
कौन कौन आता है तेरे गम को बांटने
ए मेरे सनम
तू अपनी मौत की अफवाह उड़ा कर तो देख

जो जहाँ है मस्त है,
औरों से त्रस्त है,
खुद से हीं ग्रस्त है
दुनिया उसे लगती अस्त व्यस्त है
हर सुबह ठीक करता उसे,
शाम तक हो जाती वहीं फिर से अजीब कम्बख्त है
चिढ़ के भागता है दूर उससे जब सूरज होता अस्त है
वो आती है सपनों में आने को कहती है
वो भागता है वापस फिर से चलता सरपट है
यहीं रोजगार उसका यहीं कारोबार है
थक के जिससे वो पस्त है
खुदा छोड़ो खुद पे भी नहीं उसको अब कोई ट्रस्ट है लगता है उसको ये पूरा सिस्टम ही भ्रष्ट है
अब क्या करे बेचारा बहुत ही कष्ट है
इतिहास तो अब एक ठोस क्रस्ट है
और फ्यूचर भी नष्ट है
चाहिए था प्यार मगर बुझा रहा लस्ट है
घड़ी उसकी रुकी हुई मोबाइल भी लॉस्ट है
चल रहा है जीवन चीलम का थ्रस्ट है

कुछ अधूरापन था,,
जो पूरा हुआ ही नहीं।
कोई था मेरा जो,,
कभी मेरा हुआ ही नहीं।।

आपदाओं विपदाओं में
शब्दो के मायने बदल जाते हैं
जीवन में उनका ज़ायका बदल जाता है
सारे शब्द एक साथ एक ही रूप धारण करने लगते हैं कभी वे एक साथ क्रिया हो जाते है
फिर अचानक सारी क्रियाएं संज्ञा हो जाती हैं
संज्ञा विशेषण बनते हैं
और विशेषण लोगों में प्रवेश कर जाते हैं
आपदाओं विपदाओं में
रात विरात, गाहे बगाहे
सड़क पर लोग नही चलते
कुछ विशेषण चलते हैं
जिन्हें बचे हुए लोग अपने घरों में छुप कर खिड़कियों से देखते हैं
और वे विशेषण और ज्यादा सशक्त और बड़े हो जाते हैं …

नथ की तारीफ़ कि तारे सी टिमटिमाती है,,
उसने घूघट हटा कर आफ़ताब दिखा दिया।

Beautiful random poetries

अचानक अकबका के जगा
तो पता चला कि कुछ हुआ है
लेकिन क्या हुआ है ,कैसे हुआ है


कब हुआ , कहाँ हुआ
कौन बचा , कौन मरा है
किसने किया ,कौन करवाया है
किसी को क्या मिल गया वो सब करवा के


जो भी हुआ है अब क्या होगा
ये सब कैसे पता चलेगा मुझे
मैं सोता रहा और पता नहीं उस दौरान क्या हुआ
लोगों का शोर सुन के हड़बड़ा के जग गया


तभी से सुन रहा हूँ सब लोग यहीं कह रहे हैं
कि कुछ तो हुआ है कहीं पर अभी थोड़ी देर पहले जब मैं सो रहा था
किसी ने करवाया है किसी से पर किसलिए और क्या
तभी पास से गुजरते हुए किसी ने कहा कि मैं सो रहा था


इसीलिए बच गया वो भी सो रहा था
इसीलिए बच गया वो सब जो सो रहे थे
बच गए लेकिन बेचारे वो सारे मारे गए जो जाग रहे थे

जी करता है, तुमको अपने दिल का महमान बना लूँ,,
जी करता है तुमको अपनी जान बना लूँ।
करके तेरे सारे ख्वाब पूरे,,
तुझको मैं अपना अरमान बना लूँ।।

जियूँ तेरे संग मैं, तेरे संग अपना गुलिस्तां बना लूँ,,
मैं बनूँ तेरा गुलशन, तुझे अपनी बहार बना लूँ।
करता रहूँ बस दीदार तेरा,,
तुझे मैं अपना कहकशा बना लूँ।।

कभी मिल तुझे बताएं हम,,
तुझे इस तरह सताएं हम ।
तेरा इश्क तुझसे छीन कर,,
तुझे मय पिला कर रुलाएं हम ।।

तुमको दर्द हूँ , तू न सह सके,,
तुझे जुबां हूँ तू न कह सके ।
तुझे , मकान , तू न रह सके,,

तु मुश्किलों में घेर के,,
कोई ऐसा रास्ता निकाल हूँ ।
तेरे दर्द की में दवा कर,,
किसी गरज के में सिवा करूँ ।।

मुफ़लिसी में चल रही है ज़िंदगी मेरी,,
मेरा वक़्त मुझसे ही उधार लिया
और वापसी पर मुझसे ही मुकर गये।

Beautiful random poetries

Beautiful random poetries

देखो तुम पहले ही ये समझ लेना
प्यार करना है तो मुझे मत बदलना
करना तुम अपनी मर्ज़िया बेहिसाब
मगर मेरे पक्के दोस्त सा देना मेरा साथ


मना लेंगे हम परिवार को
मगर तुम मुझे बीच रास्ते मत छोड़ जाना
भरोसा जब हो जाएगा खुद से ज़्यादा
तुम उस भरोसे को रद्दी की तरह मत फाड़ना
मुझे बदलने की मत सोचना।

दोस्ती तो सबसे बढ़कर रहेगी
तुम मेरे हमसफ़र बाद में कहलाओगे
मेरी खामियों में तुम खूबियाँ देख पाओगे?
मालूम है सुंदरता की परिभाषा में मै ज़रा फीकी हूँ


तुम मेरी झूठी तारीफ करके मुझे सुंदर बनने के रास्ते पर मत चलाना
हफ्ते में एक दफा चाय बिस्तर पर थमा देना
बाकि दिन तुम मेरे हाथ की चाय का जायका लेते रहना
कम नमक की सब्जी खा तुम मुझे मुँह मत दिखाना
खुद उठकर ही नमक बुरक लेना
तुम बदलने की मत कहना।

जो love विवाह में हम किसी अनजान दुआ से बंध जाएंगे
अनजान दुआ इसलिए क्योंकि मेरे ऊपर वाले से नाते टूटे से है
तुम मेरे नास्तिक व्यवहार को सहन कर लेना
मै तुम्हारी हर मन्नत के धागे को कसकर बांधने का हुनर जीवन में ला दूँगी
जात अलग होगी तो कोई गम नही यार
तुम मेरे सगे दोस्त बनकर
मुझे तब भी समझना


Surname बदलने को मुझे मत कहना
surname से प्यार नही है
अधूरी ना हो जाए ज़िंदगी इसके बिना
तुम समझ गए होंगे मेरी भावना।

अपने परिवार को हम और बड़ा कर लेंगे
तुम्हारे परिवार में, मेरे छोटे से परिवार को अपना तुम कह लोगे?
मुझसे पहले हम दोनों की माताओं की इच्छाओं को पूरा तुम्हे ही करना है
कम कमाओगे तो कोई गम नही !


हम दोनों को ही इस नाव में चप्पू चलाना है
और मज़ाक करते करते हमे गमो को बांटना है
ना तुम मेरे लिए बदलना
ना मुझे बदलने का तुम कहना।

Beautiful random poetries

मेरे पिम्पल के साथ ही तुम्हे मुझे अपनाना है
बोलो है क्या तुम्हे कबूल?
वो तुमसे बहुत पहले ही मेरे आशिक की कतार में है
अच्छा हाँ मान लिया थोड़ा बदल लुंगी
शादी के बाद तुम्हे जानवर मगर कहूँगी
देखो ये मैंने कब से सोच रखा है


जान(❤️)वर(पति)😂
ही तुम्हे कहना है
बुरा मानने वाली क्या बात है
शब्द को तोड़ के देखो इसकी अहमियत कितनी खास है
डाँट लेना मुझे
हक होगा तुम्हे
मेरे यार मगर एक वादा देना
मुझे बदलने का मत कहना।

और सुनो तुम लड़के हो
तो ये नही है कि सारे गम को दिल में रखो
रोज़ रात को पूरे दिन का हाल बताना
और जब भी मन करे तुम रोने से मत कतराना
मै तुम्हे चुप नही कराऊँगी
उसके लिए दुनिया ही काफी है
तुम दिल खोल के रोना


मगर तुम रोने के बाद उस बात को भूल लेना
फिर मै हँसा दूँगी तुम्हे
तुम तो मेरे सगे मित्र हो ना
किसी बात को दिल पर मत लेना
निसंकोच तुम कह सकते हो जो भी हो कहना
इसलिए ही यार तुम्हे पहले दोस्त का दर्जा दिया मैंने
पति पत्नी के रिश्ते का नम्बर दूजा ही रहेगा हमेशा

हर सुबह तुम्हे भी जल्दी उठना है
मेरी बिंदी बनकर तुम्हे भी चमकना है
मेरी मारवाड़ी को तुम्हे समझना पड़ेगा
और हाँ मुझसे हिंदी में 😂 ज़्यादा बातें मत करना
अपन करेंगे राजस्थानी में बात
गुर्जर हूँ मारवाड़ी ही है मेरी पहचान


करती होंगी और बीवियां lunch किया क्या पूछने को फोन
मै भी कर लुंगी” खानों खायो के नाही”😋पूछने को
ये lunch , dinner के अंग्रेजी बोलचाल अपन से नही होंगे
आप नही तुम और तू तक हम सफर तय करेंगे
मेरी कमियाँ लाख , शायद ऐसे ही रहे
मेरे surname के साथ छेड़छाड़ ना हो चले
तुम बदलने का मत कहना मेरे यार

Beautiful random poetries

Here you find more Quote stuff on this page Here you find more Quote stuff on this page which you love to Read you love to Read

Something Wrong Please Contact to Davsy Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.