एक दिन की देश भक्ति-(One day patriotism)

एक दिन की देश भक्ति-(One day patriotism)
एक दिन की देश भक्ति

एक दिन की देश भक्ति :- आज 26 जनवरी है, हमारा गणतंत्र दिवस।

आज ही के दिन हमारे देश का संविधान स्थापित किया गया।

हम सब देश भक्त हैं, हम सब अपने देश से बहुत प्रेम करते हैं।
मगर हमारी देश भक्ति सिर्फ एक दिन के लिए ही क्यों जागती है।

हम राष्ट्र हित की बात करते हैं,, मगर राष्ट्र के हित में बात नहीं करते।
आज हम सिर्फ अपने लिए ही सोचते हैं, अपने फायदे के लिए हम अपने देश अपने धर्म को नजरअंदाज कर देते हैं।
हम हर वर्ष गणतंत्र दिवस मनाते हैं, क्या हम इस शब्द का सही मतलब समझते हैं?
आज हम उस युग में जी रहे हैं जहाँ अगर कोई सच्चे ह्रदय से अपने देश अपने देशवासियों के हित में सोचता है

उनके लिए हर क्षण कार्यरत रहता है, वो हमारी नजर में भृष्ट है,,

वो लड़े थे, अपनी मातृ भूमी के लिये,,,हम उनकी मेहनत पर अपना नाम बना रहे हैं,,,,
जिनके लहू में बसी थी सच्ची देशभक्ति,,,,उनके नाम को जहन से मिटा रहे हैं
जो मिला गए अपना लहू मातृभूमि के आँचल में,,,रंगने आजादी को, हम उनके लहू को मिटा रहे हैं,,

एक दिन की देश भक्ति-

हमारे देश पर लाखों देश भक्त अपने जीवन को न्योछावर कर गए
मगर हमें क्या है, वो तो कल की बात थी और हम आज में जी रहे हैं।
हाल तो वो है कि आंखे खुली होने पर भी खुशी से विष पी रहे हैं,,,
एक तरफ एक साधारण व्यक्ति अपने देश और अपने देशवासियों के प्रति दिन रात निरन्तर कार्यरत है,,

सारे विश्व में अपने देश को पुनः सर्वश्रेष्ठ स्थान पर लाने का प्रयास कर रहा है।

जो आज के समय में हमारे देश का प्रतिनिधि बनकर सारे विश्व में भारत के नाम को धीरे धीरे ऊपर की ओर ला रहा है।


वहीं हम में से कुछ लोग सिर्फ अपने फायदे के लिए उस व्यक्ति को अपशब्द बोलते हैं और विश्वस्तर पर जाकर उसकी निन्दा करते हैं,

अगर हम अपने देश के हित में कोई प्रयास नहीं कर सकते

तो हमें ये अधिकार भी नही कि इस प्रकार के कार्य करने वाले व्यक्ति के मार्ग को रोके,,,,

सच्चे देशभक्त-

पिछले वर्ष सम्पूर्ण विश्व पर आए बड़े संकट में भी वह व्यक्ति अपने देशवासियों को सुरक्षित रखने का हर प्रयास करता रहा। हम चैन से सो सकें इसलिए वो हर रात जागता रहा,,
उस वक्त वह अकेला नहीं था उस वक्त उसका साथ देने के लिए हर पल हर वक्त उसकी एक करणी सेना उसके साथ थी,,
जो हर समय हमारी सुरक्षा के लिए हर प्रयास कर रही थी। परन्तु हम में से कुछ लोग उस वक्त भी

इतनी बड़ी त्रासदी में इतनी बड़ी महमारी को ये जानते हुए भी के यह महामारी कितनी प्राण घातक है।


अगर गलती से भी बेकाबू हो गई तो न जाने कितनी जान हानि होगी सिर्फ अपने हित अपने फायदे और उस व्यक्ति को हानि पहुचाने के प्रयास में लगे रहे।


वो शुक्र था हमारे देश की करणी सेना का जो हर परेशानी को झेलते हुए भी

सिर्फ और सिर्फ हमारे देश के लोगों के लिए ही कार्य करती रही।
हमारे देश के वो सभी चिकित्सक उपचारक/उपचारिका और उनसे जुड़े हुए सभी लोग,
हमारे देश नगर पाल, और हमारे देश के स्वच्छता के सिपाही हर पल हमारे लिए ही कार्यरत रहे।

आज के समय को देखकर मेरे मन में सिर्फ एक ही बात आती है।

न जाने कहाँ गया वो वक्त जब लोग एक पहर ही भोजन किया करते थे,, परन्तु देश के स्वाभिमान को बढ़ाने के लिए हर क्षण कोशिश किया करते थे।

कविता

क्षमा याचना करें किस मुख से,,,
अब क्षमा यहां,,,कहाँ बसती है

हर जगह
अब बस एक दिन की देश भक्ति है,,,,
जो उठा सकें तेरे स्वाभिमान का बीड़ा अपने कंधों पर
नहीं रही हमारे कांधो में अब वो ईमान की शक्ति है
युवा भी ध्वज छोड़ धन के आगे झुक रहा है
न रुके वो तेरे गान को एक पल,,
जो धन धान को हर पल रुक रहा है,,
रंगे वो कैसे केसरिया तुझे,,
रगों का लहू भी अब सूख रहा है,,
कोई सच्चा सेवक तेरा,,,,तेरी सरहद पर दिन काट रहा है
तो कोई छीन कर तेरे लालों से अपने पालों को हिस्से बांट रहा है
क्षमा याचना करें किस मुख से,,,
अब क्षमा यहां,,,कहाँ बसती है
हर जगह
अब बस एक दिन की देश भक्ति है,,,,

एक दिन की देश भक्ति-(One day patriotism)
Isro Mission chandrayaan 2

4 thoughts on “एक दिन की देश भक्ति-(One day patriotism)

  • January 26, 2021 at 12:49 pm
    Permalink

    Its so true…most of us are one day patriotic 😕
    I really appreciate ur trial to make the readers feel that patriotism isn’t the thing to be shown for a day…its come out of heart everytm we listen “INDIA”😍😍😍

    Reply
  • January 26, 2021 at 1:46 pm
    Permalink

    This is the true thing whatever you write about the one day patriotism……we all just show are love for the one day…..we had to love our nation from our heart not only for the day for our whole life…❣️❣️❣️

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.